गुरुवार, 20 नवंबर 2014

प्रकृति और जीवन

पत्तों पर नृत्य करता सूरज

खिले लाल-हरे पत्तों के मध्य से झांकता सूरज हमारे निराश मन को नई आशा देता है एवं इन नजारों से ऊर्जा की अनुभूति होती है। 

जीवन की आपाधापी से परे प्रकृति के मध्य।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें